विधायक भरत सिंह का सीएम पर तंज,पत्र में लिखा-भ्रष्टाचार की गंगा की खोज करते मुख्यमंत्री पहुंचे गंगोत्री

0
66

सांगोद (कोटा)
सांगोद विधायक भरत सिंह वैसे तो पत्रों के जरिए हमेशा ही सुर्खियों में बने रहते हैं वह अपने सरकार के मंत्रियों के साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी कई बार आड़े हाथों लेते हैं उन्होंने एक बार फिर पत्र लिखकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर हमला बोला है

विधायक भरत सिंह ने लिखा कि भ्रष्टाचार की गंगा की खोज करते करते मुख्यमंत्री आखिर पहुंचे गंगोत्री आपको बता दे कि बीते एक दिन पूर्व 26 मई को बारां में सर्वजातीय निःशुल्क सामूहिक विवाह सम्मेलन हुआ था जो राज्य का सबसे बड़ा सम्मेलन था जिसमे 2222 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे थे ओर ये आयोजन मंत्री प्रमोद जैन भाया देखरेख में हुआ था और प्रदेश के मुखिया भी वहाँ पहुचें थे ऐसे में भरत सिंह ने प्रदेश के मुखिया पर हमला बोला है

विधायक ने पत्र में लिखा कि वर्ष 2019-20 वर्तमान कॉंग्रेस सरकार का प्रथम बजट पेश करते समय मुख्यमंत्री ने उस समय प्रश्न किया था कि प्रदेश में भ्रष्टाचार की गंगा किसने बहाई बजट भाषण के प्रष्ट 20 पर पैरा 81 में cm यह कहा था कि भ्रष्टाचार की इस बहती गंगा में ईमानदार लोग भी भ्रष्ट हो गऐ है उन्होंने लिखा कि उस समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोच समझकर अपने मन की बात कही थी मुख्यमंत्री ने बापू के सिद्धांतों पर अमल करते हुए उनके सपनो को साकार करने की बात भी उनकी 150 वीं जयंती पर अपने बजट भाषण में करी थी

उन्होंने पत्र में लिखा कि 26 मई 2023 को बांरा में भाया द्वारा आयोजित महाकुंभ में जाकर मुख्यमंत्री ने यह साबित कर दिया की ईमानदारी की दुहाई देने वाले प्रदेश का मुख्यमंत्री स्वयं खुलेआम भ्रष्टाचार को आर्शीवाद प्रदान करते है। उन्होंने आगे लिखा कि गजब है भाया व भाया की यह माया भाया ने इतिहास रच डाला। जैन तीर्थ बनाया। सर्वजातीय निःशुल्क सामूहिक विवाह सम्मेलन रच दिया।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा बांरा का निःशुल्क विवाह सम्मेलन धन्य है श्री महावीर गौशाला सेवा संस्थान धन्य है प्रदेश का गौपालन मंत्री धन्य है प्रदेश के मुख्यमंत्री भाया रे भाया तूने खूब खाया।विधायक ने आगे लिखा कि संत कबीर ने सही कहा है कि:-
आधी व रूखी भली, सारी तो संताप जो खावेगा चूपडी बहुत करेगा पाप ।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here